गुरु अस्त 2022 : 32 दिन बाद गुरु अस्त से होने वाले मौसम में ‘उदित’, इन राशियों को जॉब में आने वाला

0 Comments


[ad_1]

राशिफल, गुरु अस्त 2022: ज्योतिष के अनुसार ज्योतिष के अनुसार शुभाशुभ होता है। ज्योतिष शास्त्र में गुरु यानि बृहस्पति ग्रह ग्रह ग्रह ग्रह है। बृहस्पति को का गुरु भी कहा गया है। यह भगवान गुरु के नाम से भी जाना जाता है। 32 दिन बाद अष्ट गुरु (बृहस्पति दहन) अब उदित हो रहे हैं।

हिंदू पंचांग के हिसाब से 23 फरवरी 2022, बृहस्पतिवार को शाम 6 बजकर 50 पर गुरु कुंभ राशि में अस्त होता है। गुरु ग्रह 27 मार्च 2022, कल 5 बजकर 37 पर संचार में खुद को सामान्य चरण में आ रहे हैं। संपत्ति पर काबू पाने के लिए। गुरु इंट होन पर इन तीन राशियों पर लागू हो सकता है,

कन्या राशि (कन्या)- धनागमन करने वालों के लिए संवर्धन आय में वृद्धि हो सकती है। मान सम्मान में वृद्धि हुई है। इस तरह के संक्रमण हो सकता है। खतरे में विशेष प्रकार से। धन व्यय की स्थिति भी संतुलित रह सकती है। दस्तावेज़ का प्रयास करें. साथी से मनमुटाव की स्थिति बन सकती है। कोशिश करें। स्वास्थ्य संबंधी।

वृश्चिक राशि (वृश्चिक)- गुरु की इस अवस्था के लिए आप इस अवस्था में रह सकते हैं। वृश्चिक राशि के लोगों के मामलों में लाभ होगा। धन की कमी दूर। रुके काम पूरा। लोगों ने उनसे संपर्क किया और उनसे संपर्क किया. उच्च पद की स्थिति भी हो सकती है। जानकारों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना है, ऐसा नहीं है। विरासत की स्थिति लक्ष्य को पूरा करने के लिए निम्नलिखित करें। अलस से . लाइफस्टाइल को अनशासित बानाने की जरुरेट है।

धनु राशि (धनु)- धनु राशि के संकेतकों के लिए गुरु का मान मान में परिवर्तन होगा। इस घर में काम करने के लिए भाग ले सकते हैं। लाभप्रद व्यापार का आयोजन किया जाता है। पेट की बीमारी से राहत पाने के लिए। बॉस से संबंध मधुर हो सकते हैं। खराब होने से बचाने के लिए. दोस्त नहीं बन सकते हैं। परक्रम में कुछ अनुभूति होती है। धन की बचत करने का प्रयास करें।

अस्वीकरण: सार्वजनिक सूचनाओं और जानकारियों पर आधारित है। ABPLive.com किसी भी प्रकार की जानकारी, जानकारी की जानकारी रखता है। किसी भी जानकारी या जानकारी के बारे में जान लें।

मासिक शिवरात्रि 2022 : ‘शिवरात्रि’ चैत्र मास की कब है? जानिए शुभ मुहूर्त और महत्व

राशि चक्र साइन : शनि ग्रह के ग्रह इन 3 जी की स्थिति में धन के मामले में लक्ष्मी की कृपा करेंगे।

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,