चैत्र नवरात्रि 2022: नवरात्रि में खुशियाँ मनाने के लिए किस तरह की घटना का आनंद लेने का दिन

0 Comments


[ad_1]

9 दिनों के लिए नवरात्रि भोग: वत नवरात्रि के अंदर की दीवारों की देखभाल के लिए विशेष व्यवस्था है। संतुष्ट होने के लिए, दीप प्रज्ज्वलित द्वारा मां के भक्त रात तक भोजन करें। यूं तो को भी खुश खुश हैं। लेकिन नवारात्रि के नान दीन के अलग-अलग स्वरपॉन्ग उन्हें प्संद का भोगील जाया जांगा है। पहली बार मां शैलपुत्री की पूजा की। माँ को खाना चाहिए। विशेष रूप से संवेदनशील हैं। मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए किस तरह के सपने देखना चाहिए।

चैत्र नवरात्रि 2022: नवरात्रि पर पकाने की विधि साबूदाने की चटटी खिचड़ी, नोट करें।

मां दुर्गा के नौ स्वरूप और मन मनपसंद भोजन भोग-
मां शैलपुत्री-

नवरात्रि के पहले दिन शाम की बैटरी की स्थिति खराब होती है। माँ को खाना चाहिए। इससे बचने में परेशानी होती है।

संबंधित खबरें

मां ब्रह्मचारिणी-
नवरात्रि के दिनों में ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। इस घड़ी के इस रूप को शकर और पंचामृत का भोग सुखद होता है। दीर्घायु होने से लाभप्रद है।

मां चंद्रघंटा-
नवरात्रि के लिए मां प्रसन्ना आनंददायक होती है। भोजन का भोग या मेवे। निर्णय लेने से धन और वैभव की प्राप्ति होती है।

मां कूष्मांडा-
देश की माँ कूष्मांडा की देखभाल। इस दिन मालपुआ का भोजन करना था। सद्बुद्धि है।

मां स्कंदमाता
नवरात्रि के पांचवे दिन स्कंदमाता की छुट्टी है। इस दैत्य को केले का नावेद्य उत्तम उत्तम है। ये कार्य-पेशे के लिए कुशल हैं।


माता कात्यायनी-
छठé din mans casyayioni का दिन होता है, इस दीन कहो मी मीरा पन चढा जाया है, इस सिसाधर्मी बढ है।

माँ कालरात्रि –
नवरात्रि का सातवां दिन मां कालरात्रि के रूप में पूजा है। इस बैठक में खुश रहना अच्छा है। घर में बना हुआ बना हुआ है।


महागौरी-
आठवें दिन महागौरी की पूजा की जाती है। इस दिन माँ को आनंद मिलता है। यह सभी मनोभावों को पूरा करेगा I


मां सिद्धिदात्री –
नवरात्र के पूरे दिन 9 दिन तक प्रार्थना और हलवा का भोग पूरा हो जाएगा। इस उत्सव का भी कल्याण हो।

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,