देव दीपावली की तिथि की असमंसम हुई दूर, अब इस दिन बनारस में मनाया जाएगा देवताओं का महापर्व

0 Comments


[ad_1]

Dev Deepawali 2023 Date: वाराणसी में देव दीपावली बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. काशी के 84 घाटों को दीपों से सजाया जाता है और काशी के इस मनमोहक दृश्य को देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटक आते हैं. इतना ही नहीं तकरीबन 6 महीना से काशी के घाटों की इस दीपोत्सव को देखने के लिए सभी नावों और होटल को एडवांस में बुक कर दिया जाता है.

ऐसे में इस बार मनाए जाने वाले देव दीपावली को लेकर असमंजस की स्थिति थी, लेकिन काशी विद्वत परिषद व देश के अन्य धर्म शास्त्रों के विद्वानों ने फैसला लिया है कि 26 नवंबर 2023 को देव दीपावली मनाई जाएगी.

विद्वानों ने लिया फैसला- 26 नवंबर को मनाई जाएगी देव दीपावली

काशी विद्वत परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री प्रोफेसर रामनारायण द्विवेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि, इस बार मनाए जाने वाली देव दीपावली को लेकर धर्म शास्त्रों के विद्वानों की बैठक हुई है, जिसमें यह फैसला लिया गया है कि पूर्णिमा तिथि के अनुसार 26 नवंबर को ही देव दीपावली मनाई जाएगी. सभी विद्वानों ने आपसी विचार विमर्श के बाद यह फैसला लिया है कि यही तिथि सही है. इसके अलावा जो भी तारीख बताई जा रही है वह तिथि सही नहीं है.

क्यों मनाया जाता है देव दीपावली

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार, भगवान शंकर ने त्रिपुरासुर का वध किया था इसके बाद काशी के मंदिरों और घाटों को देवताओं द्वारा उत्सव के रूप में सजाया गया था और तब से लेकर आज तक वाराणसी में भव्य रूप से दीपावली के निर्धारित समय के बाद पड़ने वाली प्रथम पूर्णिमा तिथि को धूमधाम से देव दीपावली मनाई जाती है.  सालों साल इस त्यौहार का महत्व भी बढ़ता जा रहा है. लाखों की संख्या में दूरदराज से पर्यटक इस ऐतिहासिक पल को देखने के लिए वाराणसी आते हैं.

ये भी पढ़ें: Ganesh Visarjan 2023: घर-घर विराजे बप्पा, जानें डेढ़, तीसरे, पांचवें दिन गणपति विर्जसन का मुहूर्त

Disclaimer : यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,