द नाइट मैनेजर 2 रिव्यू: पहले का क्लॉक स्लो लेकिन मजेदार है ‘द नाइट मैनेजर 2’, अनिल-आदित्य ने फिर बांधा समां

0 Comments


[ad_1]

ऐप पर पढ़ें

वेब श्रृंखला: द नाइट मैनेजर 2

प्रमुख स्टारकास्ट: अनिल कपूर, आदित्य रॉय कपूर, तिलोत्तमा शोम, शोभिता ढोलीपाला और शाश्वत चटर्जी

निर्माता: संदीप मोदी

कहाँ देखें: डिज़्नी एडवाइज हॉटस्टार

क्या है कहानी: पहुंच से पहले एक बात ये भी साफ कर दिया जाए कि ये दूसरा सीजन नहीं है, बल्कि पहले ही सीजन का दूसरा पार्ट है, क्योंकि इस सीरीज के 4 एपिसोड और तीन एपिसोड की अलग-अलग कहानी में रिलीज करने का फैसला तय किया गया है ।। ‘द नाइट मैनेजर 2’ की कहानी कहां से आगे बढ़ी है, जहां से पहले पार्ट की खत्म हुई थी। शान सेन गुप्ता (आदित्य रॉय कपूर) अब किसी होटल के मैनेजर नहीं बल्कि फ्लैट रुंगटा (अनिल कपूर) के करीबी हैं। हालाँकि शान पर शुरुआत ब्रिजपाल (शाश्वत चटर्जी) से ही हुई है। शान, शैले को एक्सपोज करने के मिशन पर है और क्रैशिया राव (तिलोट्टमा शोम) ने ही उसे ये काम दिया था, लेकिन अब वो भी खुद भी अपने ऑफिस के चक्कर में फंस गई है और एक बार उसे ये भी लग रहा है कि शान बदल दिया गया है. वहीं कावेरी (शोभिता) के अपने कुछ राज हैं, क्योंकि वो शेंलेंद्र के साथ हैं। क्या शान, शैली को एक्सपोज कर आदर्श या शैली का शिकार होगा? ये देखने के लिए आपको सीरीज देखनी होगी।

क्या कुछ है खास और कहां है माजरा: द नाइट मैनेजर 2 की जान कैमरा वर्कशॉप, एडिटिंग और सिनेमैटोग्राफी है। पूरी सीरीज देखने में बहुत अट्रैक्टिव नजरिया है और आपको बांधे लिखा है। इसके साथ ही सीरीज का म्यूजिक और एक्शन भी है, जो न तो ओवर लगता है और न ही कम लगता है। दूसरे पार्ट की राइटिंग थोड़ी स्लो दिखती है, जिसका असर सीज़न पर दिखता है। ‘द नाइट मैनेजर 2’ के पहले पार्ट के शुरुआती 4 एपिसोड काफी तेजी से आगे बढ़ते नजर आए थे, लेकिन दूसरे पार्ट के बचे हुए तीन एपिसोड इस बार अटके हुए हैं। पिछले तीन एपिसोड में से एक काफी स्लो लगता है और उस वजह से वो क्रेज़ कम सा लगता है, जिसके लिए आपने दूसरा सीज़न शुरू किया था। हालाँकि 6वें एपिसोड से एक बार फिर सीरीज स्पीड पकड़ती है और बहुत तेजी से आगे बढ़ती है। वहीं पहले पार्ट से लग रहा था कि शोभिता के किरदार में काफी कुछ देखने को मिलेगा, लेकिन उस उम्मीद में भी सीरीज में फीकी सी नजर आ रही हैं।

कैसा है अभिनेता और निर्देशक: अभिनेत्रियों की करें तो सीरीज में अनिल कपूर का आकर्षण देखते ही बनता है। जिस खूबसूरती से उन्होंने इस चरित्र को दर्शाया है, उसकी चर्चा जरूर आने वाले वक्त में होगी। वहीं आदित्य रॉय कपूर को देखकर साफ हो गया है कि दर्शक और कार्यकर्ता उन्हें कम आ रहे हैं, वे अंडररेटिड हैं, जबकि वो ज्यादा डिजर्व करते हैं। पूरी सीरीज में आदित्य रॉय कपूर की बॉडी लैंगवेज ही दिखती है। इसके अलावा जहां पहले पार्ट में शोभिता धुलीपाला, ज्यादातर लोग सिर्फ सलमान के अवतार में ही कलाकार थे तो इस बार उनकी अदाएं भी नजर आई हैं और वो इम्प्रेस कर में कामयाब हुई हैं। वहीं शाश्वत चटर्जी और तिलोत्तमा शोम ने तो काबिल-ए-तारीफ का काम किया है। दोनों का एक ही काम बेहद खूबसूरत लुक है कि एक पल का भी अहसास नहीं होता कि ये अदाएं कर रही हैं। वहीं बाकी सपोर्टिंग कास्ट ने भी अपने पार्ट की जिम्मेदारी में सुंदरता की झलक दिखाई है। एक्टर्स के अलावा सीरीज का डायरेक्टर भी ठीक है, हालांकि पहले इस पार्ट के डायरेक्टर का नजरिया कमतर लगता है।

देखें या नहीं: नाइट मैनेजर का पहला पार्ट हिट था, लेकर इसके दूसरे पार्ट के लिए भी लोग क्रेज थे। इसी क्रेज का इस सीरीज को फायदा मिलता है और आप इसे जबरदस्ती देखते हैं। द नाइट मैनेजर 2, पहला भाग दिलचस्प नहीं है लेकिन इसे देखा जा सकता है।

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,