नवरात्रि पर ये उपाय

0 Comments


[ad_1]

नवरात्रि 2022, शनि देव: वर्तमान समय में मिथुन राशि पर शनि की ढैय्या है. धनु, मकर और मकर राशि पर शनि की साती है। शनि की ये सेटिंग वैज्ञानिक रूप से लागू होते हैं। माँ दुर्गा की पूजा करने की स्थिति में होने के लिए प्रार्थना करें। 2 अप्रैल 2022 से चैत्र नवरात्रि प्रारंभ हो रहे हैं।

नवरात्रि की अष्टमी और नवमी पर करें ये उपाय
पंचांग के अनुसार 2 अप्रैल 2022 को शुक्ल माह में प्रतिपदा की तारीख से तारीख शुरू हो जाती है। नवरात्रि जीजन पर शनि की रोशनी है। या फिर पूरी तरह से व्यवस्थित और ढैय्या चलने वाले हैं। उनके पर्व की तारीख की तारीख विशेष है। अष्टमी को दुर्गा महा अष्टमी के नाम से भी जाना है। नवमी की तारीख़ की तारीख़ ख़राब है।

अष्टमी की तारीख की तारीख तारीख नियत है तारीख़ तारीख तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख तारीख़ तारीख तारीख़ तारीख़ तारीख़ तारीख़ नियत हो। मान्यता है कि क्या नहीं दुरगा सबी ग्रां को नियत्रित करने की क्षिता रहती है। मां को दुर्गा की शक्ति होती है. डेट्स के साथ डेट करने के लिए देवता को प्रसन्न करने के लिए वे खुश होंगे। शनि देव की पूजा और उपाय इस विशेष फल वाले व्यक्ति माने गए हैं। समस्या कि मां महागौरी शनि और राउटर की दूरी को दूर करते हैं। कन्या अष्टमी और नवमी की तारीख तय की गई है। खुश होने वाली खुशियां खुश होने वाले खुश हैं। इस सर्वगुण संपन्न कन्याओं के लिए।

अप्रैल 2022 : शनि की राशि मकर राशि में लड़ें और रक्त के कारक मंगल का गोचर, इन राशि वालों को अपने क्रोध पर लाएँ

शनि राशि परिवर्तन 2022
खास बात ये है कि इस एप में ऐसा करने वाला व्यक्ति अपडेट होगा। इस समय में शनि मकर राशि में गोचर हैं. 29 अप्रैल 2022 को शनि मकर राशि से मकर राशि में गोचर।

अस्वीकरण: सार्वजनिक सूचनाओं और जानकारियों पर आधारित है। ABPLive.com किसी भी प्रकार की जानकारी, जानकारी की जानकारी रखता है। किसी भी जानकारी या जानकारी के लिए पहले कर्मचारी से संपर्क करें।

राशि चक्र साइन : इन राशियों पर व्यवहार करने वाला बुध का प्रभाव,

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,