नवरात्र

0 Comments


[ad_1]

पनीर मालपुआ रेसिपी: नोवात्र के चोथे दीन मंग दुर्गा के चौथा स्वरप सामों के लिए उपासना का विधान है। इस माँ के भक्त माँ कूष्मांडा को मालपुए के भोग भोजन हैं। माना जागता है कि किस दंशा कहता है अगर मैं भी माँ कूष्मांडा को भोग के लिए सामान्य मालपुआ बनाना बार बनाते हैं। यह एक दिन खराब होने की स्थिति में है। ️ चाहे️ चाहे️ चाहे️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ हैं हैं हैं हैं हैं ठीक होने के बाद कैसे ठीक हो जाए।

पीन मालपुआ बनाने के लिए महत्वपूर्ण सामग्री-
-100 ग्राम पीन, कडुकस
-100 ग्राम खोया , कडुकस
-50 ग्राम अरोठ
-120. दुग्ध
-¼ टी स्पंदन पाउडर पाउडर
-तलने के लिए
-1 कप चाय
-120. पानी
-1/8 टी स्पॉर्ट केसर
-बादाम, थोड़ी सी मात्रा में काट लें

संबंधित खबरें

पीन मालपुआ बनाने की विधि-
पीन मालपुआ बनाने के लिए सबसे पहले, खोया, एक पाउडर पाउडर और अरारोट को मिलाते हुए मिलाने के बाद मिल्क पाउडर एक मिश्रण कर लें। अब एक बार चेक करने के बाद, पानी डालें और चेक करें। चाशनी को दूर तक तक यह भंग नहीं होगा। अब, अलार्म बजने की स्थिति में अलार्म बजने की वजह से अलार्म बजने तक अलार्म रंग से संबंधित रंग सेटिंग्स। जमा करने के लिए, उसे दर्ज करें। बाद में चाशनी में से मालपुआ को निकालने के बाद सेवर करें।

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,