IPL 2022: हो जाइए तैयार, 58 दिनों में 10 टीमें खेलेंगी 70 लीग मैच, जानिए IPL 2022 से जुड़ी पूरी डिटेल्स

0 Comments


[ad_1]

गत विजेता चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच 26 मार्च को वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल के 15वें सीज़न का उद्घाटन मुक़ाबला खेला जाएगा। यह मैच भारतीय समयानुसार शाम 7.30 बजे शुरू होगा। इस सीजन में कुल 12 डबल हेडर होंगे। डबल हेडर के दिन पहला मैच भारतीय समयानुसार दोपहर 3.30 बजे शुरू होगा, और दूसरा शाम 7.30 बजे।

फॉर्मेट में हुआ बदलाव

आईपीएल 2022 में 10 टीमें लीग चरण के लिए पांच-पांच के दो वर्चुअल ग्रुपों में विभाजित होंगी। आईपीएल में दो सबसे सफल टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स को अलग-अलग ग्रुपों में रखा गया है। प्रारूप ऐसा है कि प्लेऑफ से पहले कुल 70 मैचों में प्रत्येक टीम इस बार भी 14 लीग मैच खेलेगी। प्रत्येक टीम अपने ग्रुप की दूसरी टीमों के साथ दो मैच खेलेगी, और दूसरे ग्रुप की (नीचे दी गई तालिका के समान पंक्ति के अनुसार) एक टीम के साथ दो मैच खेलेगी और उसी ग्रुप की शेष टीमों के साथ एक मैच खेलेगी।

संबंधित खबरें

उदाहरण के लिए मुंबई अपने ग्रुप की टीमों से दो मैच खेलेगी और केवल चेन्नई सुपर किंग्स (दूसरे ग्रुप की टीम) से दो मैच खेलेगी। साथ ही ग्रुप बी की बाक़ी टीमों से सिर्फ एक मैच खेलेगी।

चार स्टेडियमों में खेला जाएगा पूरा टूर्नामेंट

पूरे भारत में यात्रा करते समय कोविड-19 के जोखिमों को कम करने के लिए इस बार आईपीएल मुंबई, पुणे और उसके आसपास के चार स्थानों पर खेला जाएगा। जिन मैदानोंं पर मैच खेले जाएंगे वे चार मैदान हैं – मुंबई में वानखेड़े स्टेडियम और ब्रेबोर्न स्टेडियम, नवी मुंबई में डीवाई पाटिल स्टेडियम और पुणे में एमसीए स्टेडियम।

चार स्टेडियमों में इसे एक समान बनाने के लिए, शेड्यूल का ड्राफ़्ट इस तरह से तैयार किया गया है कि टीमें वानखेड़े और डीवाई पाटिल में चार-चार मैच खेलेंगी और तीन-तीन मैच ब्रेबोर्न और एमसीए स्टेडियम में खेलेंगी। कम से कम क़ागज़ पर, बाकी टीमों को लग सकता है कि इससे मुंबई इंडियंस को फ़ायदा मिलेगा क्योंकि उन्हें अपने मूल घरेलू मैदान वानखेड़े में चार मैच खेलने को मिलेंगे। हालांकि मुंबई इंडियंस वानखेड़े में आखिरी बार 2019 में खेली थी।

ये 70 लीग मैच प्लेऑफ से पहले 26 मार्च से 22 मई तक 58 दिनों तक चलेंगे। प्लेऑफ के लिए स्थानों और कार्यक्रम की घोषणा अभी नहीं की गई है। फाइनल 29 मई को खेला जाएगा।

कोविड पॉजिटिव पाए जाने पर ये है नियम

पॉजिटिव पाए जाने वाले व्यक्ति को कम से कम सात दिनों के लिए आईसोलेट करना होगा, और उस अवधि के दौरान उनका छठे और सातवें दिन कोविड टेस्ट किया जाएगा। टीम के बायो बबल में फिर से प्रवेश करने के लिए उस व्यक्ति को 24 घंटे के अंतराल पर लगातार दो बार निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने होंगे। लक्षणों के पूर्ण समाधान के बाद देखा जाएगा कि उन्हें 24 घंटे से अधिक समय तक कोई ताजा लक्षण तो नहीं हैं, और 24 घंटे से अधिक समय से दवाओं का कोई उपयोग तो नहीं हुआ है।

 

CSK vs KKR Head to Head: चेन्नई सुपर किंग्स के आगे नहीं टिक सकी है कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम, 26

 

ऐसे मामले में एक फ्रेंचाइजी 11 की टीम को मैदान में उतार सकती है, अगर उनके पास कम से कम 12 खिलाड़ी उपलब्ध हों, जिसमें कम से कम सात भारतीय और एक सब्सीट्यूट खिलाड़ी शामिल हो। यदि किसी टीम के पास 12 से कम खिलाड़ी उपलब्ध हैं, तो बीसीसीआई बाद में मैच को फिर से शेड्यूल करने का प्रयास करेगी। यदि किसी कारणवश यह संभव नहीं हो पाता है तो मामला आईपीएल की तकनीकी समिति को भेजा जाएगा, और समिति का निर्णय “अंतिम और बाध्यकारी” होगा। इससे पहले जब किसी मैच को फिर से शेड्यूल करना संभव नहीं था, तो टीम को मैदान में उतारने में असमर्थ फ्रेंचाइजी सामने वाली टीम को अंक खो देती थी।

आईपीएल 15 में नए नियम

प्रत्येक टीम के पास अब प्रति पारी दो असफल रिव्यू होंगी। पहले प्रति पारी एक ही रिव्यू उपलब्ध था। एक और नियम बदला गया है, जब कोई बल्लेबाज कैच आउट होता है तो नया बल्लेबाज ही अगली गेंद का सामना करेगा। अब से इस बात का कोई महत्व नहीं रह गया है कि कैच लेते समय बल्लेबाजों ने एक दूसरे को क्रॉस किया है कि नहीं, आने वाला बल्लेबाज ही स्ट्राइक पर रहेगा, सिवाय इसके कि अगर वह ओवर की आखिरी गेंद पर आउट हो।

महाराष्ट्र सरकार ने अभी 25 प्रतिशत सीटों को भरने की अनुमति दी है, लेकिन केवल पूरी तरह से टीका ले चुके दर्शकों के लिए हीं। भारत में पिछले दो सीज़न से प्रशंसक आईपीएल का हस्सिा नहीं रहे हैं। 

एक बड़ा बदलाव यह है कि सभी खिलाड़ियों और टीमों के स्टाफ सदस्यों को अपनी टीम के बबल में प्रवेश करने से पहले पिछले साल के सात दिनों की तुलना में तीन दिन कठिन क्वारंटीन (होटल के कमरों में) में बिताने की ज़रूरत है। उन तीन दिनों के दौरान खिलाड़ियों और स्टाफ़ सदस्यों को हर 24 घंटे के बाद कमरे में कोविड टेस्ट करने की आवश्यकता होगी। हालांकि, यह नियम उन लोगों पर लागू नहीं होगा जो किसी अन्य बबल से आएंगे। जैसे कि द्विपक्षीय सीरीज़, फ़्रेंचाइज़ी तैयारी शिविर, कोई घरेलू टूर्नामेंट या राष्ट्रीय शिविर, बशर्ते खिलाड़ी चार्टर्ड फ़्लाइट या सड़क मार्ग से यात्रा करें।

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,