Shiv Shakti Update: भरी सभा में दक्ष का हुआ अपमान, महादेव से बदला लेने के लिए बनाई रणनीति

0 Comments


[ad_1]

ऐप पर पढ़ें

Shiv Shakti- Tap Tyaag Tandav 29 July: ‘शिव शक्ति’ के लेटेस्ट एपिसोड में प्रजापति दक्ष सभी के सामने महादेव का अपमान करते हैं। यह देखकर नंदी भड़क जाते हैं। नंदी भी चुप नहीं रहने वालों में नहीं थे और वह दक्ष को उन्हीं की भाषा में जवाब देते हैं। दोनों को देवता और साधु-संत शांत कराते हैं। उधर सती, महादेव से अपना मौन तोड़ने के लिए कहती हैं। महादेव उन्हें समझाते हैं कि उन्हें दक्ष की बेटी की तरह नहीं बल्कि पक्षपात के बिना परखना चाहिए जिससे उन्हें भी ज्ञात हो जाएगा कि कौन उचित है और कौन अनुचित। नंदी जिस तरह दक्ष से बात करते हैं वह सती को ठीक नहीं लगता।

नंदी ने दक्ष को दिया श्राप

भरी सभा में दक्ष, नंदी का अपमान करते हैं। वह उन्हें पशु, मूर्ख जैसे शब्द कहते हैं। वह नंदी को श्राप देते हैं कि वह सारे संतों द्वारा त्याग दिए जाएंगे। हमेशा मतवाले बनकर घूमेंगे और चार कदम भी चल नहीं पाएंगे। नंदी को अपनी भक्ति पर पूरा विश्वास होता है। वह पलटकर दक्ष को श्राप देते हैं कि उनके जीवन में ऐसा समय आएगा जब उन्हें केवल पशु की आवश्यकता पड़ेगी। वह जीवित रहेंगे लेकिन पशु के कारण और तब महादेव की शरण लेनी पड़ेगी।

महादेव ने यज्ञ पूरा करने का लिया संकल्प

आखिरकार महादेव अपनी चुप्पी तोड़ते हैं। वह दक्ष को उनके श्राप की याद दिलाते हैं और तब भी वह मौन ही थे। सभा में दक्ष, महादेव का अपमान करते हैं यह देखकर नंदी क्रोधित हो जाते हैं और सबकुछ नष्ट करने लगते हैं। महादेव उन्हें शांत रहने के लिए कहते हैं। वह उनसे यज्ञ को भंग करने से मना करते हैं। महादेव शुद्धि के लिए आए थे तो वह इसे पूरा करके ही जाएंगे। वह यज्ञ को पूरा करने का संकल्प लेते हैं।

महादेव से लेंगे प्रतिशोध

कोई भी अगर यज्ञ को रोकना चाहता है उससे पहले उसे महादेव से युद्ध करना होगा। दक्ष युद्ध के लिए भी तैयार हो जाते हैं। ब्रह्मा उन्हें तुरंत इस सभा से जाने का आदेश देते हैं लेकिन वह जाते-जाते चेतावनी देते हुए जाते हैं कि वह यह अपमान कभी नहीं भूलेंगे। गुस्से में दक्ष सभा से चले जाते हैं, इसके बाद यज्ञ शुरू किया जाता है। जिस तरह दक्ष को जाने के लिए कहा जाता है वह गुस्से में अपने महल में प्रवेश करते हैं। वह शपथ लेते हैं कि इस यज्ञ के अपमान को दूसरे यज्ञ से मिटाएंगे। वह और बड़ा यज्ञ करेंगे और केवल शिव को नहीं बुलाएंगे। इससे साबित हो जाएगा कि महादेव से ज्यादा उपेक्षित संसार में कोई  नहीं है। यही उनका प्रतिशोध होगा। 

.

[ad_2]

Source link

Tags: , , , , , , , , , , , , ,